अमेरिका लॉक डाउन को अंडर एस्टीमेट करने पर 40000 नागरिकों की मौत

#भारत_की_जनसंख्या_है_135_करोड़…..
यदि प्रतिदिन #1_लाख_व्यक्तियों_की_covid-19 संक्रमण की जाँच की जाए तो 13500 दिन या लगभग 37 साल लगेंगे 135 करोड़ लोगों की जांच करने में और इतने समय मे भारत पूरी तरह कोरोना से खत्म हो चुका होगा।
अब यदि हम इस टेस्टिंग को 10 लाख व्यक्ति प्रतिदिन भी कर दें तो भी 1350 दिन अर्थात लगभग पौने 4 साल लग जाएंगे 135 करोड़ लोगों की टेस्टिंग करने में और इतना समय भी पर्याप्त है देश को खत्म होने में।
छोटी सी बात समझ नही आ रही तो अमेरिका को देख लो। लॉक डाउन को अंडर एस्टीमेट करके, टेस्टिंग पर जोर देने का नतीजा, 30 लाख से ज्यादा टेस्टिंग करने के बाद भी 40000 नागरिकों की मौत हो चुकी है और लगभग 7 लाख लोग कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं ।
इसमें लॉक डाउन के साथ ट्रेसिंग,टेस्टिंग दोनों शामिल है। बिना लॉक डाउन किये इतनी बड़ी आबादी को कोरोना से बचना असंभव है। इसलिए सरकार के सभी निर्देशो का पालन करे और ज्यादा से ज्यादा अपने घर मे रहकर
देश को बचाने की सेवा करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *